भारत में रियासतों के एकीकरण में सरदार पटेल की भूमिका स्पष्ट करें।

प्रिंसली स्टेट्स ब्रिटिश भारत में कई बड़े और छोटे राज्य थे जिन पर राजकुमारों का शासन होता था जिनका अपने आंतरिक मामलों पर किसी न किसी रूप में नियंत्रण होता था जब तक कि वे ब्रिटिश सर्वोच्चता स्वीकार करते थे। वे Read More …

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं की भूमिका पर टिप्पणी करें। गांधीजी के आगमन से राजनीतिक क्षेत्र में उनकी भागीदारी पर क्या प्रभाव पड़ा?

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम न केवल आजादी के लिए एक राजनीतिक आंदोलन था बल्कि एक समावेशी आंदोलन भी था जिसमें समाज के विभिन्न वर्ग शामिल थे। महात्मा गांधी के आगमन के बाद नए जोश के साथ महिलाओं की बहुआयामी भूमिका के साथ Read More …

“चम्पारणं सत्याग्रह स्वाधीनता संघर्ष का एक निर्णायक मोड़ था । ” स्पष्ट कीजिए।

BPSC 69TH मुख्य परीक्षा प्रश्न अभ्यास  – भारत का आधुनिक इतिहास (G.S. PAPER – 01) उत्तर– ऐतिहासिक अर्थों में चंपारण सत्याग्रह एक निर्णायक घटना या मोड़ था। क्योंकि यह पिछली घटनाओं से कुछ नया करने की शुरुआत को चिह्नित करता Read More …

राजनैतिक मुद्दों तथा भारतीय समाज की पुनर्रचना के संबंध में गांधी और नेहरू के विचारों संबंधी अंतर्विरोध की व्याख्या करें।

BPSC 69TH मुख्य परीक्षा प्रश्न अभ्यास  – भारत का आधुनिक इतिहास (G.S. PAPER – 01) राजनीतिक मुद्दों तथा भारतीय समाज की पुनर्रचना के संबंध में गांधी और नेहरू के विचारों में मूल अंतर विचारधारा पर आधारित है । जैसे – धर्म Read More …

टैगोर के सामाजिक और राजनीतिक चिंतन संबंधी विचार की व्याख्या करें

BPSC 69TH मुख्य परीक्षा प्रश्न अभ्यास  – भारत का आधुनिक इतिहास (G.S. PAPER – 01) विश्व साहित्य क्षेत्र में टैगोर का नाम सदैव श्रद्धा के साथ लिया जाता है। उनकी विशेषता थी प्रकृति का सजीव चित्रण एवं जीवन के विभिन्न Read More …

गांधीजी के राजनीतिक, सामाजिक, नैतिक और आर्थिक विचारों का वर्णन कीजिए।

BPSC 69TH मुख्य परीक्षा प्रश्न अभ्यास  – भारत का आधुनिक इतिहास (G.S. PAPER – 01) गांधीजी का विश्व राजनीतिक इतिहास में उदय दक्षिण अफ्रीका की भूमि पर हुआ परंतु वास्तविक ऊंचाई भारत के राष्ट्रीय आंदोलन से मिली और वे मानवता Read More …

नेहरू के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक चिंतन का विवरण दीजिए।

BPSC 69TH मुख्य परीक्षा प्रश्न अभ्यास  – भारत का आधुनिक इतिहास (G.S. PAPER – 01) स्वाधीन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में आधुनिक भारत के स्वतंत्र विकास की दिशा में जवाहरलाल नेहरू ने काफी कार्य किया जो कि सराहनीय Read More …